भाजपा के शासन में किसान चौतरफा लूट से परेशान: अखिलेश

गन्ना किसानों का सरकार पर हजारों करोड़ रुपया बकाया है

113

लखनऊः  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के शासन में किसानों को चारों तरफ से लूटा जा रहा है।

यादव ने कहा कि किसानों से झूठे वादे करने वाली भाजपा सरकार ने न सिर्फ उन्हें सिर्फ धोखा दिया है। बल्कि गन्ना किसानों का सरकार पर हजारों करोड़ रुपया बकाया है। राज्य सरकार को कानूनन बकाया के साथ ब्याज भी देना चाहिए, लेकिन भाजपा सरकार इस पर चुप्पी साधे हुए है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के कारण किसानों के लिए खेतीबाड़ी करने में मुश्किलें आ रही है। उन्होंने कहा कि इन दिनों किसान डीएपी खाद के लिए तरस रहा है।

इसे भी पढ़ेंः यूपीः बीजेपी विधायक विक्रम सैनी की सदस्यता रद्द

प्रशासन की बेरूखी से हालात दिन पर दिन बिगड़ते जा रहे हैं। खाद की कमी के चलते कालाबाजारी हो रही है। डीएपी का स्टाक मुंहमांगे दामों पर वसूला जा रहा है। दुकानों पर 1350 रुपए कीमत वाली डीएपी बोरी 1650 रुपये में बेची जा रही है।

खाद बिक्री केन्द्रों पर कुछ दुकानदार तो खाद के साथ अन्य सामान जैसे लिक्विड स्प्रे भी किसानों को जबरन बेच रहे हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि एटा में सहकारी समितियों पर खाद की कमी से किसान परेशानी में भटक रहे हैं। निजी विक्रेता किसानों से एक बोरी पर 300 रुपए तक वसूल रहे हैं।

प्रतापगढ़, हरदोई, कासगंज जैसे अनेक जिलों में किसान डीएपी के लिए भटक रहे हैं। किसान भाजपा सरकार के भ्रष्टाचार की मार झेल रहे है। दिन भर लाइन लगने पर भी खाली हाथ लौट रहे हैं।

श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के प्रति शुरू से उदासीन है और उनके प्रति घोर उपेक्षा का भाव प्रदर्शित करती रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा को अन्नदाता की नहीं पूंजीपति घरानों के हितों की चिंता रहती है। किसानों को सिर्फ आश्वासन पर आश्वासन दिया जाता है।

कभी आय दोगुनी करने का सपना दिखाया तो कभी मुफ्त बिजली का झांसा दिया जाता है। किसानों को सम्माननिधि के नाम पर अपमान और वसूली के नोटिस मिल रहे हैं। ऐसी जनविरोधी भाजपा सरकार अब किसानों को ही नहीं बल्कि समस्त प्रदेशवासियों के लिए मुसीबत बन गयी है।