फिर मुकेश सहनी को भाजपा ने दिया झटका

गीता कुमारी ने थामा बीजेपी का दामन

90

पटना : बिहार की कूढनी विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने वाले हैं। प्रचार अभियान समाप्त हो चुका है। कुल 13 प्रत्याशी मैदान में है। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने मुकेश सहनी की पार्टी यानी वीआईपी को जबरदस्त झटका दिया है। बीजेपी ने वीआईपी को तोड़ते हुए बिहार सरकार में पूर्व मंत्री रमई राम की बेटी गीता कुमारी को अपने पाले में कर लिया है।

कई वरिष्ठ नेता रहे मौजूद
गीता कुमारी कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुई। आपको बता दें कि इससे पहले बोचहां विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था जिसमें वीआईपी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया था। हालांकि गीता चुनाव हार गई थी लेकिन उन्होंने सबसे ज्यादा बीजेपी को ही नुकसान पहुंचाया था।

बीजेपी के साथ गठबंधन
यह पहली बार नहीं है जब बीजेपी ने मुकेश सहनी को झटका दिया हो इससे पहले भी उनको कई झटके लग चुके हैं। 2019 के विधानसभा चुनाव में मुकेश सहनी ने बीजेपी के साथ ही मिलकर चुनाव लड़ा था। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के मना करने के बाद भी मुकेश सहनी ने चुनाव लड़ा था। चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा था।

इसे भी पढ़ेंः शुभेंदु  की सभा के पहले संघर्ष और आगजनी मामले में 45 गिरफ्तार

 

बीजेपी पहले भी दे चुकी है झटका
भारतीय जनता पार्टी ने इसका बदला लेते हुए उनके तीन विधायकों को अपने पाले में ला दिया। वीआईपी के पास विधानसभा में कुल चार विधायक थे। जिसमें एक की मौत हो जाने के कारण उनके केवल तीन विधायक ही बिहार विधानसभा में बचे हुए थे। तीनों ही विधायकों को बीजेपी ने अपने खेमें में ले लिया था। इसके अलावा बीजेपी ने उनको एमएलसी के लिए नामित नहीं किया जिसके कारण उनको मंत्री पद से इस्तीफा भी दे देना पड़ा था।