सीएम हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी पर असमंजस में ईडी

साहेबगंज में था जिसके नाम का खौफ, आज वह भागा फिर रहा है

103

रांचीः झारखंड में अवैध खनन को लेकर केन्द्रीय जांच एजेंसी ईडी की कारवाई चल रही है। इस मामले में ईडी ने अब तक एक दर्जन से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर उन्हे जेल भेज दिया है। इस मामले में राज्य के सीएम हेमंत सोरेन से भी ईडी ने एक बार पूछताछ कर उनका पक्ष जाना।

हालांकि पूछताछ से पहले ही सीएम सोरेन ने जांच एजेंसी को सीधी चुनौती देते हुए कहा- अगर गुनाह किया है तो पूछताछ क्या करना? हिम्मत है तो गिरफ्तार करके दिखाओ।

सीएम ने ईडी पर आरोप भी लगाया था कि झारखंड सरकार को दिल्ली से गिराने की साजिश हो रही है। सूत्रों की माने तो ईडी फिर से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए बुला सकती है।

श्री सोरेन से उनके चल- अचल सम्पत्ति का ब्यौरा मांग सकती है। इधर सूत्रों की मानें तो अवैध खनन को लेकर सीएम हेमंत सोरेन के खिलाफ ईडी को फिलहाल कुछ भी ठोस सबूत नहीं मिला है।

ऐसे में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी गिरफ्तार नहीं कर सकती है। मुख्यमंत्री के प्रेस सलहाकार अभिषेक प्रसाद से भी ईडी पूछताछ कर चुकी है।

श्री प्रसाद से पूछताछ हुए लगभग डेढ़ माह बीत चुका है। इस मामले में सूत्रों और कानून के जानकारों का कहना है कि अवैध खनन को लेकर अब तक जिन लोगों से भी पूछताछ हुई है इनसे अब तक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ कोई ठोस जानकारी या दस्तावेज नहीं मिल पाई है।

जब तक ईडी को मामले में ठोस सबूत नहीं मिल जाता तब तक ईडी मुख्यमंत्री को गिरफ्तार नहीं कर सकती है।

इधर, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधानसभा क्षेत्र से विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा हैं। वहीं दाहू यादव श्री मिश्रा का करीबी है। दाहू यादव के नाम का खौफ पूरे साहेबगंज में था।

फिलहाल दाहू यादव कहां छिपा है, उसकी तलाश पुलिस कर ही रही है। साथ ही राज्य की जनता भी यह जानने को आतुर है कि दाहू यादव कहां है। पूरे सिस्टम को अपने एक उंगली पर नचाने वाले दाहू यादव को ईडी के डर सताने लगा है।