ISRO ने भारत के पहले निजी रॉकेट ‘प्रारंभ’ का किया सफल प्रक्षेपण

राष्ट्रपति दौपदी मुर्मू और पीएम मोदी ने दी ISRO को बधाई

153

श्रीहरिकोटाः भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार को स्वर्णिम इतिहास रचते हुए ‘प्रारंभ’ नाम के देश के पहले निजी रॉकेट विक्रम-एस का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया।

‘प्रारंभ’ ने तीन घंटे की उलटी गिनती के बाद यहां से 11 बजकर 30 मिनट पर सफल उड़ान भरी। हैदराबाद स्थित स्काईरूट एयरोस्पेस कंपनी ने इस रॉकेट को तैयार किया है।

545 किलोग्राम वजनी, ठोस ईंधन से संचालत और 6 मीटर लंबे सबऑर्बिटल लॉन्च व्हीकल को साउंड रॉकेट लॉन्च से छोड़ा गया। तीन पेलोड वाले इस रॉकेट के सफल प्रक्षेपण से भारत ने अंतरिक्ष में एक और लंबी छंलाग लगायी है।

स्काईरूट एयरोस्पेस’ ने ट्वीट किया था कि दिल की धड़कनें तेज हो गई हैं। सभी की निगाहें आसमान की ओर हैं। पृथ्वी सुन रही है।

केंद्रीय अंतरिक्ष मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने प्रक्षेपण के बाद कहा कि यह देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम की एक नई शुरुआत है। इसे अंतरिक्ष क्षेत्र के लिए एक अनुकूल माहौल बनाने का बड़ा कदम बताया।

इसे भी पढ़ेः जीरो टॉलरेंस की नीति से खात्मा होगा आतंकवाद का : नरेंद्र मोदी

डॉ. सिंह ने अंतरिक्ष में नए मिशनों को प्रोत्साहन देने के लि पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। उन्‍होंने कहा कि अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत तेजी से अग्रणी राष्ट्र के रूप में उभर रहा है।

राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी बधाई

इधर, राष्ट्रपति दौपदी मुर्मू और पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘प्रारंभ’ के सफल प्रक्षेपण पर ISROको बधाई ट्वीट कर बधाई दी।