झारखंड पुलिस ने बांकुड़ा से व्यवसायी को किया गिरफ्तार

व्यवसायी पर लगा 14 करोड़ की कथित धोखाधड़ी का आरोप 

96

कोलकाता/झारखंडः  झारखंड के बोकारो जिले की चास थाना पुलिस ने झारखंड में करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी और व्यापारिक लेन-देन में विश्वासघात के आरोप में एक आरोपी व्यवसायी को रविवार को बांकुड़ा से गिरफ्तार किया।

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान भवानी मुखोपाध्याय के रुप में हुई है। पुलिस उसको चार महीने से तालाश कर रही थी। वह पुरुलिया इलाके का रहने वाला है।

 

रविवार दोपहर आरोपी को बांकुड़ा जिला अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर झारखंड ले गई।

इसे भी पढ़ेंः तमलुक सहकारी चुनाव में  TMC कार्यकर्ताओं के साथ संघर्ष, लाठीचार्ज

भवानी की टीएमटी बार बनाने की फैक्ट्री है। इसी साल सितंबर में बोकारो की प्रभात कॉलोनी निवासी ध्रुव नारायण नामक व्यवसायी ने चास थाने में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

उसने पुलिस को बताया थी कि भवानी ने उससे कई बार करोड़ों रुपए उधार लिए थे। इतना ही नहीं, यह भी आरोप है कि उसने अपने कारखाने के लिए करोड़ों का कच्चा माल भी कर्ज के रूप में लिया था।

ध्रुव ने दावा किया कि भागीदार होने के बावजूद उन्हें कारखाने में प्रवेश करने से रोक दिया गया था। इसलिए मजबूरी में उसने पुलिस का दरवाजा खटखटाया।

पुलिस ने बताया कि ध्रुव ने करीब 13 करोड़ 67 लाख रुपये की वित्तीय धोखाधड़ी की शिकायत की है। इसके बाद मामले की जांच शुरु हुई। लेकिन पिछले चार माह से भवानी का पता नहीं चल पा रहा था।

रविवार सुबह अचानक भवानी के मोबाइल टावर लोकेशन का पता चला कि वह पुरुलिया से कोलकाता की ओर जा रहा है।

हालांकि,  गिरफ्तारी के बाद भवानी ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है। जब उसे कोर्ट में पेश किया गया तो आरोपी ने कहा कि मुझे नहीं पता कि मुझ पर क्या आरोप हैं।

उसने बताया कि आज मैं पुरुलिया से कोलकाता जा रहा था, उसी दौरान झारखंड पुलिस ने मुझे गिरफ्तार कर लिया। मैं हर दिन 3 करोड़ रुपए का बिजनेस करता हूं। करोड़ मेरे लिए कोई बड़ी बात नहीं है।