यात्रीगण कृपया ध्यान दें… मैनपुरी से डिंपल भाभी को जिताएं

इस एनाउंसमेंट से मच गया हड़कंप

92

इटावाः एक पल को सभी यात्री चौक गए जब रेलवे स्टेशन में रेल के आने जाने की एनाउंसमेंट की जगह यात्रीगण कृपया ध्यान दें… मैनपुरी से डिंपल भाभी को जिताएं ! सुनाई दिया।
दरअसल, यह मामला शनिवार रात 11 बजे का है, जब अचानक मैनपुरी सीट से डिंपल यादव को जिताने और जिंदाबाद के नारे सुनाई दिए। काउंटर पर तैनात रेलवे कर्मी ने अराजक तत्वों का जबरन कक्ष में घुसने और पार्किंग स्टैंड के कर्मी ने डिपल यादव के प्रचार के एनाउंसमेंट की पुष्टि की है।

आचानक रात 11 बजे हुआ एनाउंसमेंट

इटावा जंक्शन रेलवे स्टेशन के पूछताछ काउंटर से शनिवार रात करीब 11 बजे पर प्रसारित संदेश में मैनपुरी सीट से सपा प्रत्याशी डिंपल यादव के प्रचार का एनाउंसमेंट हुआ।

इसे भी पढ़ेंः नेपाल में सरकार गठन की प्रक्रिया तेज, PM देउबा से मिले प्रचंड

ऐसा एनाउंसमेंट सुनकर हर कोई हैरान रह गया। रेलवे इंक्वायरी कर्मचारी ने माफी भी मांगी और मामला शांत कराने की कोशिश की।

लोगों ने रेलवे पुलिस थाने में भी की शिकायत

बता दें कि, इस मामले में कुछ लोगों ने राजकीय रेलवे पुलिस थाने जाकर भी शिकायत की है। पुलिस के आने से पहले ही सभी लोग चले गए।

पूछताछ कार्यालय के कर्मचारी मुकेश कुमार ने बताया कि कुछ अराजक तत्व कक्ष में घुस आए थे, जिन्होंने हरकत की है। उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है।
उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी हिमांशु शेखर उपाध्याय का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। मंडल रेल प्रबंधक स्तर से जांच शुरू करा दी गई है। अनाउंसमेंट से जुड़े संबंधित रेल कर्मी के विरुद्ध अनुशासन और आचरण नियमावली के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

निर्वाचन आयोग में करेंगे शिकायत: भाजपा प्रत्याशी
वहीं, मामले का संज्ञान लेते हुए भाजपा प्रत्याशी रघुराज सिंह शाक्य ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है कि सपाई बौखलाए हुए हैं। यह घटना उनकी हार का प्रदर्शित करती है। इस मामले में तथ्य जुटाए जा रहे है। इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग में भी की जाएगी।

 

बता दें कि, सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर पांच दिसंबर को उपचुनाव होना है। सपा ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। सैफई परिवार के लिए मैनपुरी सीट सियासत की सीढ़ी का काम करती है या नहीं इसका निर्णय उप चुनाव का परिणाम ही करेगा।