नीट परीक्षा में हुई धांधली को लेकर NSUI का विरोध प्रदर्शन

NTA और केंद्र सरकार के खिलाफ काला पट्टा लगाकर जताया विरोध

52

नई दिल्ली :  कांग्रेस छात्र संगठन झारखंड एन.एस.यू.आई नेत्री आरुषी वंदना के नेतृव में रांची विश्विद्यालय के डोरंडा कॉलेज के मुख्य द्वार पर नीट परीक्षा में हुई धांधली को लेकर NEET के विद्यार्थियों के साथ काला पत्ता लगा कर केन्द्र सरकार और एनटीए के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया गया। विदित हो कि नीट परीक्षा रद्द करने को लेकर केंद्र सरकार से मांग की गई। प्रदर्शन के दौरान एनएसयूआई नेत्री आरुषी वंदना ने बताया कि इस बार की हुई परीक्षा में 67 स्टूडेंट को 720 में से 720 नंबर दे दिए गए। जिसमें सीधे तौर पर धांधली नजर आती है। कई ऐसे स्टूडेंट ऐसे भी थे जिन्होंने हताशा में आकर आत्महत्या कर ली। इसलिए नीट परीक्षा रद्द की जाए और जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की। आरुषी वंदना ने कहा कि NEET परीक्षा में केवल ग्रेस मार्क्स की समस्या नहीं थी। धाँधली हुई है, पेपर लीक हुए हैं, भ्रष्टाचार हुआ है। NEET परीक्षा में बैठे 24 लाख़ छात्र-छात्राओं का भविष्य मोदी सरकार के कारनामों से दाँव पर लग गया है। परीक्षा केंद्र और कोचिंग सेंटर का एक नेक्सस बन चुका है, जिसमें ‘पैसे दो-पेपर लो’ का खेल खेला जा रहा है। मोदी सरकार NTA के कंधों पर अपनी कारगुज़ारियों का दारोमदार रखकर, अपनी जवाबदेही से पीछा नहीं छुड़ा सकती। पूरे NEET घोटाले में CBI जाँच होनी चाहिए।जाँच के बाद दोषियों को कड़ी-से कड़ी सज़ा दी जाए और लाखों छात्र-छात्राओं को मुआवज़ा देकर उनका साल बर्बाद होने से बचाया जाए। आज के प्रदर्शन में मुख्य रूप से आरुषी वंदना, चंदन यादव, प्रणव राज, नंदिनी गुप्ता, पी.कृतिका राव, सौरभ अंथोनी, अब्दुल राबनवाज, बिस्वजीत सिंह, अभिजीत बाउरी, अनिकेत सिंह, अभिषेक सिंह, अमन, रोहित, मिथुन, डिंपल, पूजा, सचिन मौजूद थे।

 

ये भी पढ़ें : नाबालिग को नौकरी का लालच देकर ले जा रहे थे चेन्नई, रांची RPF ने धर दबोचा!