पाकिस्तान ने ईरान के राजदूत को किया निष्कासित

75

इस्लामाबाद: ईरान ने जबसे पाकिस्तान पर हमला किया है तबसे पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। अब इसी क्रम में इस्लामाबाद ने तेहरान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया है। इसी के साथ पाकिस्तान ने ईरान के राजदूत के अपने यहां से निष्कासित कर दिया है।
पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने ईरान के हमले को अपने हवाई क्षेत्र का अकारण उल्लंघन करार दिया है। ईरान ने मंगलवार (16 जनवरी) को पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर मिसाइल और ड्रोन से हमला किया था। कई मीडिया रिपोर्ट्स में ईरान की सरकार मीडिया के हवाले से यह जानकारी दी गई थी।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईरान ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान में कुहे सब्ज नामक इलाके में जैश अल-अदल के दो ठिकानों पर हमला कर उन्हें नष्ट कर दिया है।

आपको बताते चलें कि मिसाइल और ड्रोन से ईरान ने आतंकी संगठन जैश अल अदल के ठिकानों को टारगेट किया है। ईरान के हमले में भीषण तबाही मची है। ईरान के हमले से पाकिस्तान भड़क गया है और धमकी दी है।
पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एयर स्पेस के उल्लंघन की कड़ी शब्दों में निंदा की। मंत्रालय ने कहा है कि एकतरफा कार्रवाई अच्छे पड़ोसी की निशानी नहीं है। जैश अल अदल ने भी कहा है कि कई मिसाइलों से अटैक हुआ है। विदेश मंत्रालय ने ईरानी अधिकारी को भी तलब कर लिया है।
ईरान की एयरस्ट्राइक में पाकिस्तान में भीषण तबाही मचाई है। पाकिस्तान का दावा है कि हमले में 2 बच्चों की मौत हुई है। 6 लोग घायल हुए हैं। मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है। इसके अलावा दो घर भी तबाह हुए हैं। ईरान के हमले के बाद तबाही का वीडियो सामने आया है, जिसमें कई रिहायशी मकान खंडहर में तब्दील हो गए हैं। वीडियो जैश अल अदल ने जारी किया है।

ईरान ने जहां हमला किया है वो पंजगुर का कौह सब्ज इलाका है। ये वो जगह है जो जैश अल अदल का मजबूत ठिकाना था, जिसे ईरान ने ताबड़तोड़ हमला कर नेस्तनाबूद कर दिया। यहां पर भारी संख्या में जैश अल-अदल के आतंकी छिपे थे। वे यहीं से आतंकी गतिविधियों को अंजाम देते थे। ये जैश अल-अदल के सबसे मजबूत ठिकानों में से एक था।
अब सवाल उठता है कि इरान ने जैश अल अदल की तरफ हमला किया क्यों किया इसका जवाब ये है कि दिसंबर में जैश अल अदल ने ईरान में बड़ा हमला किया था। हमले में ईरान के 11 पुलिसकर्मी मारे गए थे। इसी का जवाब इरान ने दिया है।