बिजली मंत्री ने लोड शेडिंग के लिए उपभोक्ताओं को ठहराया जिम्मेदार

बिजली उत्पादन में बंगाल नंबर वन : अरुप विश्वास

154

कोलकाताः इस भीषण गर्मी में रात के समय अचानक लोड शेडिंग से आम लोग काफी परेशान है। आरोप है कि कोलकाता और उपनगरों में कई जगहों पर रात में कई घंटे बिजली नहीं रहती है।

हालांकि, राज्य के ऊर्जा मंत्री अरूप विश्वास ने लोड शेडिंग के लिए अतिरिक्त लोड और उपभोक्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है। मंत्री के मुताबिक हर घर में जितनी बिजली ली जाती है, उससे ज्यादा लोड है। उन्होंने साफ तौर पर एसी के ज्यादा इस्तेमाल पर उंगली उठायी है।

ऊर्जा मंत्री ने कहा, राज्य में बिजली की कोई कमी नहीं है। लेकिन लोड शेडिंग सिस्टम की समस्या है। उन्होंन कहा कि किसी ग्राहक ने लोड एक किलोवाट लिया है। एसी और फ्रिज के लिए लोड लिया।

जरूरत के लिए घर में तीन एसी लगे हैं, दो वाशिंग मशीन लगी हैं। अधिक सहायक उपकरण स्थापित किए लेकिन लोड नहीं बढ़ा। पर ट्रांसफार्मर तो सिर्फ एक ही है। लोड के हिसाब से ट्रांसफार्मर आ रहा है। जब लोड बढ़ रहा हो तब ट्रांसफार्मर जल जाएगी।

मंत्री ने आगे कहा, हमने लोड बढ़ाने का प्रचार किया है। राज्य में बिजली की कोई कमी नहीं है। बिजली उत्पादन में बंगाल नंबर वन है।

अब सरकार और सीईएससी सख्त हुई तो ज्यादा लोड लेने के लिए लाइन काटनी पड़ेगी। हम सरकार की ओर से ग्राहक से लोड बढ़ाने की अपील की जा रही है। इससे सभी की समस्याओं का समाधान होगा। सिर्फ एक व्यक्ति के लोड से पूरा प्रदेश त्रस्त है।

बंगाल में बिजली की कोई कमी नहीं है और न ही अगले 100 साल में होगी।