सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई ने किया आत्मसमर्पण

इरफान और उनके भाई पर तोड़फोड़ और आगजनी का आरोप

60

कानपुरः समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक इरफान सोलंकी और उनके छोटे भाई ने शुक्रवार को पुलिस आयुक्त के कैंप कार्यालय में आत्मसमर्पण कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफतार कर लिया गया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार आत्मसमर्पण के समय उनके साथ आर्य नगर और कानपुर कैंट के सपा विधायक क्रमशः अमिताभ बाजपेयी और मोहम्मद हसन उर्फ रूमी और उनके परिवार के सदस्य मौजूद थे।

पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड ने बताया कि सोलंकी और उनके भाई रिजवान सोलंकी ने उनके कैंप कार्यालय में उनके समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। उसके बाद पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया।

जोगदंड ने कहा कि सीसामऊ (कानपुर) से सपा विधायक और उनके भाई को एक अदालत में पेश किया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि अगर जरूरत पड़ी तो हम पुलिस हिरासत की मांग करेंगे।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) सलमानताज जफरताज पाटिल ने कहा कि पुलिस को विधायक तथा उनके भाई की तलाश थी क्योंकि इन दोनों के खिलाफ 8 नवंबर को जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद में नजीर फातिमा नामक महिला के घर में तोड़फोड़ और आगजनी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था।

इसे भी  पढ़ेः  पूर्व मंत्री चिन्मयानंद को गिरफ्तार करने का आदेश

उपायुक्त ने बताया कि हमने करीब एक पखवाड़े पहले उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट हासिल किया था।

उन्हें अदालत में पेश करने और उनके ठिकानों और हमदर्दों के बारे में जानकारी जुटाने के लिए पुलिस हिरासत की मांग करने का फैसला किया गया है।

अधिकारी ने बताया कि हम सपा विधायक और उनके भाई द्वारा दी गई सभी जानकारियों को केस डायरी में डालेंगे, जिसे अदालत में भी पेश किया जाएगा।