बुरी तरह से हारकर वर्ल्ड कप से बाहर हुई टीम इंडिया, इंग्लैंड ने 10 विकेट से हराया

पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच मेलबर्न में खेला जाएगा फाइनल

89

मेलबर्न : टी20 वर्ल्ड कप 2022 के दूसरे सेमीफाइनल में गुरुवार को भारत को बुरी तरह से हराकर इंग्लैंड ने फाइनल में जगह बनाई। खिताबी मुकाबला पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच मेलबर्न में रविवार को खेला जाएगा।

एडिलेड के एडिलेड ओवल में इंग्लैंड ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया। टीम इंडिया ने 20 ओवर में 6 विकेट पर 168 रन बनाए। इंग्लैंड ने 170 का टारगेट बगैर किसी विकेट के 16 ओवर में हासिल कर लिया।

भारतीय गेंदबाज विकेट के लिए तरस गए। जोस बटलर 49 गेंद पर 80 और एलेक्स हेल्स 47 गेंद पर 86 रन बनाकर नाबाद रहे।

टीम इंडिया के लिए हार्दिक पांड्या ने 33 गेंद पर 63 रन बनाए। विराट कोहली ने 40 गेंद पर 50 रन बनाए। टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही।

पहली ही गेंद पर चौका लगाकर शुरुआत करने वाले केएल राहुल को दूसरे ओवर में क्रिस वोक्स ने पवेलियन भेज दिया। उन्होंने 5 रन बनाए।

इसके बाद रोहित शर्मा और विराट कोहली के बीच 47 रनों की साझेदारी हुई। क्रिस जॉर्डन ने रोहित शर्मा को आउट करके टीम इंडिया को दूसरा झटका दिया।

रोहित शर्मा 28 गेंद पर 27 रन बनाकर आउट हुए। आदिल रशिद ने सूर्यकुमार यादव को 14 रन पर आउट किया। क्रिस जॉर्डन ने विराट कोहली को 50 रन पर आउट किया। इंग्लैंड की प्लेइंग 11 में दो बदलाव हुआ।

डेविड मलान और मार्क वुड की जगह फिल साल्ट और क्रिस जॉर्डन को मौका मिला। भारत की प्लेइंग 11 में कोई बदलाव नहीं हुआ।

हम दबाव को नहीं झेल पाए: रोहित शर्मा

रोहित शर्मा ने कहा कि  आज का दिन काफी निराशाजनक रहा। हमने अंतिम ओवरों में अच्छी बल्लेबाजी की। हम बेहतर गेंदबाजी नहीं कर सके।

इसे भी पढ़ेंः हमने अच्छा खेल नहीं दिखाया, परिस्थितियां बहाना नहीं : रोहित

यह पूरी तरह नॉकआउट मैचों में दबाव झेलने का मामला था। सभी खिलाड़ी इस स्थिति को समझने के लिए काफी क्रिकेट खेल चुके हैं। कई खिलाड़ी आईपीएल के दौरान दबाव वाले मैच खेल चुके हैं।

हम गेंदबाजी के दौरान दबाव में दिखे। उनके ओपनर (जोस बटलर और एलेक्स हेल्स) को इसका श्रेय देना होगा। दोनों ने शानदार बल्लेबाजी की। मुझे लगता है कि पहले ओवर से स्विंग मिल रही थी, लेकिन सही दिशा में हमने गेंदबाजी नहीं की।

हमने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में दबाव को झेला। बांग्लादेश के खिलाफ भी कुछ ऐसा हुआ था, लेकिन आज हम ऐसा नहीं कर सके।