हेमंत सरकार को हटाने के लिए उलगुलान शुरूः दीपक प्रकाश

भाजपा की जन आक्रोश यात्रा

69

रांची : प्रदेश भाजपा की ओऱ से सोमवार को राज्य के सभी जिलों, प्रखंडों में हेमंत सरकार के खिलाफ जन आक्रोश यात्रा की शुरुआत हुई।

रांची में पार्टी की ओऱ से आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश, सांसद आदित्य साहू, विधायक सीपी सिंह, नवीन जायसवाल, रांची नगर निगम के डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, रांची महानगर अध्यक्ष केके गुप्ता सहित कई प्रमुख नेता भी शामिल हुए।

डीसी ऑफिस के समीप घेराव कार्यक्रम में दीपक प्रकाश ने कहा कि जन आक्रोश प्रदर्शन आज से राज्य के सभी जिलों में शुरु हुआ है। इसमें राज्य की 3.50 करोड़ जनता का आक्रोश राज्य सरकार के खिलाफ देखने को मिल रहा है।

हेमंत सरकार को हटाने तक राज्य में उलगुलान जारी रहेगा। जन आक्रोश की अब अभिव्यक्ति है कि सिंहासन खाली करो कि जनता आती है।

हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ. अब इसी नारे के साथ सरकार के खिलाफ इस आंदोलन का बिगुल बजाया गया है। जाने वाली सरकार को जनता अंतिम सलामी देना चाहती है।

दीपक प्रकाश ने कहा कि हेमंत सरकार के लूट खसोट, गिरती कानून व्यवस्था, रोजगार के सवाल पर पार्टी लगातार संघर्ष कर रही है। अब उलगुलान का समय है।

यहां की 3.50 करोड़ जनता हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ की मंशा लिए बैठी है। हर शाख पर उल्लू बैठा है, अंजाम ए गुलिस्तां क्या होगा। वर्तमान में राज्य की महागठबंधन की सरकार अली बाबा और 40 चोरों की सरकार है। वे जनता के अरमानों के साथ कुठाराघात कर रहे हैं।

खनिज संपदा की लूट, बालू, पत्थरों की चोरी जारी है। बिजली गायब है। गांव में सड़कें नहीं बन रहीं। पंचायत चुनाव में पिछड़ों का हक मारे जाने के बाद अब हेमंत सरकार निकाय चुनावों में भी पिछड़ों का हक मार रही है।

महंगाई के नाम पर ड्रामा करने वाली हेमंत सरकार वाटर कनेक्शन में 100 गुना ज्यादा चार्ज ले रही है। महिलाओं के साथ दुष्कर्म की सबसे अधिक घटनाएं देश में यहां हो रही है।

राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए दीपक प्रकाश ने कहा कि पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना में 5 किलो अनाज हर गरीब को दिया जा रहा है।

पर गरीबों के निवाले को यह भ्रष्टाचारी, विनाशकारी, अत्याचारी, जनविरोधी, आदिवासी, महिला विरोधी सरकार छीन रही।

हर साल 5 लाख युवाओं को रोजगार देने की बात थी पर यह सब नहीं हुआ। सामाजिक समरसता तोड़ने, तुष्टिकरण की राजनीति में यह सरकार लगी है। जुमे के कारण शुक्रवार को छुट्टी स्कूलों में होने लगी है। प्रार्थना बदलने को मजबूर किया गया। अब इस सड़ी गली सरकार को हटाना होगा।

 

 

यह भी पढ़ें – पुलिस के साथ मुठभेड में तीन नक्सली ढेर