बोगटुई नरसंहारः CBI ने 9 महीने से फरार आरोपी लालन शेख को किया गिरफ्तार

लालन बोगटुई कांड में मारे गए तृणमूल नेता भादू शेख साथी था

78

बीरभूमः सीबीआई ने पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में बोगटुई नरसंहार और आगजनी मामले के मुख्य आरोपियों में से एक लालन शेख को गिरफ्तार कर लिया है।

लालन शेख बोगटुई कांड में मारे गए तृणमूल नेता भादू शेख साथी था। केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों ने गुप्त सूत्रों से सूचना मिलने के बाद शनिवार रात उसे गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी को रविवार को रामपुरहाट अनुमंडल न्यायालय में पेश किया जाएगा और उसे सीबीआई हिरासत में लेने की फरियाद की। अदालत ने छह दिन की हिरासत का आदेश दिया।

इसे भी पढ़ेंः JNU की दीवार पर लिखा गया कम्युनिस्टों भारत छोड़ो का नारा

मार्च में नरसंहार के बाद पिछले नौ माह से वह फरार था। अंत में, कई महीनों के बाद सीबीआई ने लालन शेख को गिरफ्तार किया, जो बोगटुई हत्याकांड के मुख्य आरोपियों में से एक था।

बता दें कि, 21 मार्च की रात साढ़े आठ बजे के करीब बरसाल ग्राम पंचायत के तृणमूल कांग्रेस उपाध्यक्ष भादू शेख की बम फेंक कर हत्या करने का आरोप लगा था। उसका बदला लेने के लिए नरसंहार का अंजाम दिया गया था।

टीएमसी नेता की हत्या के बाद मचा था बवाल
आरोप है कि उस घटना का बदला लेने के लिए उस रात बोगटुई गांव के कई घरों में आग लगा दी गई थी। घटना के अगले दिन गांव से सात शव बरामद किए गए थे।

बाद में रामपुरहाट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में दो और लोगों की मौत हो गई थी। उस घटना को लेकर सीबीआई ने 21 जून को चार्जशीट दाखिल की थी।

हत्या के बदले में गांव में हुआ था नरसंहार, 10 की गई थी जान
बता दें कि इससे पहले, इस घटना में शामिल होने के संदेह में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इस दुखद हत्या के अपराधियों में से एक अनारुल शेख को पहले गिरफ्तार किया गया था।

कुछ दिनों पहले लालन शेख के भतीजे बुलू शेख उर्फ ​​डॉलर को भी केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था। आखिरकार लंबे इंतजार के बाद ललन शेख सीबीआई के जाल में फंस गया।