JNU की दीवार पर लिखा गया कम्युनिस्टों भारत छोड़ो का नारा

कुछ दिन पहले भी लिखा गया था नारा

98

नई दिल्ली : देश की सबसे प्रमुख यूनिवर्सिटी में शुमार दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू नेशनल यूनिवर्सिटी (JNU) जीतना अपनी शिक्षा की गुणवत्ता के लिए जाना जाता है उतना ये प्रसिद्ध है यहां की राजनीतिक गतिविधियों के लिए भी । वामपंथियों का गढ़, ये विश्वविद्यालय अक्सर अपने नारे और विवादों में रहता है। कोई इसे ‘टुकड़े-टुकड़े’ गैंग का अड्डा बताता है तो कोई इसे सरकार विरोधियों का अड्डा लेकिन हमेशा से यहां राजनीति अपने चरम पर रही है। इसी कड़ी में JNU एक बार फिर चर्चा में आ गया है।

इसे भी पढ़ेः कांथी में अभिषेक बनर्जी का दहाड़, TMC का दरवाजा खुला तो BJP साफ

कम्युनिस्टों भारत छोड़ों
दरअसल मामला यह है कि JNU के मेन गेट पर हिंदू रक्षा दल ने ‘कम्युनिस्टों भारत छोड़ो’ का नारा लिख दिया है। इसके अलावा उन्होंने कम्युनिस्ट पार्टी की तुलना खतरनाक आतंकी संगठन ISIS से भी की है। हिंदू रक्षा दल की अध्यक्ष पिंकी चौधरी ने इस पूरे मामले पर बयान देते हुए कहा कि वे लोग हमारे खिलाफ नारे लगाकर छिप जाते है। लेकिन हम छुपने वालों में से नहीं है। जिसकी हिम्मत हो हमसे आकर बात करे।

कुछ दिन पहले भी लिखा गया था नारा
बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब इस प्रकार के नारे JNU में सूनने को मिले है इससे पहले भी इस प्रकार के नारे JNU में सूनने को मिल चुके हैं। 30 सितंबर को ही यूनिवर्सिटी की दीवारों पर ब्राह्मणों के खिलाफ नारे लिखे गये थे। दीवारों पर लिखा गया था ब्राह्मणों कैंपस छोड़ो, ब्राह्मणों-बनियों हम तुम्हारे लिए आ रहे हैं। तुम्हें बख्शा नहीं जाएगा; शाखा लौट जाओ।