गुजरात में कांग्रेस की ‘परिवर्तन संकल्प यात्रा’ शुरू

यात्रा वडगाम, भुज, सोमनाथ, फगवेल और जंबूसर से शुरू की गयी।

117

अहमदाबादः कांग्रेस गुजरात के पांच क्षेत्रों में मंगलवार से ‘गुजरात परिवर्तन संकल्प यात्रा’ शुरू की। इस दौरान 5,400 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की जाएगी और 145 जनसभाएं एवं 95 रैलियां की जाएंगी।

पार्टी नेताओं ने बताया कि यात्रा वडगाम, भुज, सोमनाथ, फगवेल और जंबूसर से शुरू की गयी। आपको बता दें कि यात्रा पहले सोमवार को शुरू होने वाली थी, लेकिन रविवार को मोरबी पुल हादसे के बाद इसे एक दिन के लिए टाल दिया गया था।

गुजरात विधानसभा चुनाव इस साल के अंत में होने हैं। निर्वाचन आयोग ने अभी तक विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा नहीं की है।

पार्टी नेताओं ने बताया कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ, कांग्रेस विधायक सचिन पायलट सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता यात्रा में शामिल हुए।

कांग्रेस की गुजरात इकाई के अध्यक्ष जगदीश ठाकोर ने पहले कहा था, कांग्रेस की ‘परिवर्तन संकल्प यात्रा’ गुजरात के पांच जोन में शुरू होगी और यात्रा के दौरान 145 जनसभाएं और 95 रैलियां आयोजित की जाएंगी। कुल 5,432 किलोमीटर की दूरी तय करने वाली इस यात्रा का लक्ष्य 4.5 करोड़ लोगों से सीधा संवाद स्थापित करना है।

पार्टी नेताओं ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उनके छत्तीसगढ़ समकक्ष भूपेश बघेल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ और विधायक सचिन पायलट सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के यात्रा में शामिल होने की उम्मीद है।

कांग्रेस की ‘परिवर्तन संकल्प यात्रा’ गुजरात के पांच क्षेत्रों में शुरू की जाएगी, और यात्रा के दौरान 145 जनसभाएं और 95 रैलियां आयोजित की जाएंगी। यात्रा, जो 5,432 किलोमीटर की दूरी तय करेगी, का लक्ष्य 4.5 करोड़ के साथ सीधा संपर्क स्थापित करना है।

राज्य कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश ठाकोर ने पहले कहा था। उन्होंने कहा था कि 10 लाख से अधिक पार्टी कार्यकर्ता यात्रा में शामिल होंगे और विपक्षी दल 11 वादों का संदेश फैलाएगा कि उसने कहा है कि वह सत्ता में आने पर पूरा करेगी।

कांग्रेस ने 10 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज, किसानों की 3 लाख रुपये तक की कर्जमाफी, बिजली बिल माफी, युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी, 3,000 रुपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता, 3,000 सरकारी अंग्रेजी खोलने का वादा किया है। मध्यम विद्यालय, अन्य बातों के अलावा, कोविड-19 मौतों के लिए 4 लाख रुपये का मुआवजा।

इसे भी पढ़ेः पीएम मोदी ने मोरबी में घटनास्थल का किया दौरा, अस्पताल जाकर घायलों का पूछा हालचाल