DURGAPUR DSP PLANT: पिघला लोहा गिरने से घायल ठेका श्रमिक की मौत

ट्रैक मेंटेनेंस का काम कर रहे चार ठेका कर्मचारी प्रभावित हुए थे

69

कोलकाताः पश्चिम बर्दवान जिले के दुर्गापुर स्टील प्लांट ( डीएसपी प्लांट) में मंगलवार सुबह घायल एक और ठेका श्रमिक गोपीनाथ राम की मौत हो गई है। जबकि दो और घायलों का इलाज दुर्गापुर के निजी अस्पताल में चल रहा है।

गौरतलब है कि गत रविवार को पिघला लोहा गिरने से एक ठेका श्रमिक की मौत हो गई थी जबकि तीन श्रमिकों को गंभीर हालत में एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था।

रविवार सुबह करीब साढ़े दस बजे दुर्गापुर स्टील प्लांट की ब्लास्ट फर्नेस नंबर 2 से पिघला हुआ गर्म लोहा कलछी में दूसरी जगह ले जाने के क्रम में अचानक पलट गया था।

उस समय दुर्गापुर स्टील प्लांट के कई ठेका मजदूर उस स्थान पर मौजूद थे। रेलवे लाइन की मरम्मत का काम कर रहे थे। पिघले लोहे की चपेट में आने से एक की मौके पर ही मौत हो गई थी।

सूत्रों ने बताया कि शेष तीन ठेका श्रमिक गंभीर रूप से झुलस गए थे। तीनों को गंभीर हालत में दुर्गापुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

उनकी हालत गंभीर थी। डीएसपी के पीडब्ल्यूई विभाग के तहत ट्रैक मेंटेनेंस का काम कर रहे चार ठेका कर्मचारी प्रभावित हुए थे। पलटू बाउडी नाम के एक ठेका श्रमिक की जलने से उसने दम तोड़ दिया था। घायल तीन और ठेका श्रमिकों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

घटना की जांच और मूल कारण का पता लगाने के लिए तत्काल एक उच्च स्तरीय जांच समिति का भी गठन किया गया था। ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचा जा सके।

इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से प्रबंधन बेहद दुखी था और प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहा था। दुर्गापुर स्टील प्लांट में लगभग हर दिन ठेका श्रमिकों को हादसों का सामना करना पड़ रहा है।

इस दिन दुर्गापुर स्टील फैक्ट्री में हुए इतने बड़े हादसे में ठेका दो श्रमिकों की मौत की खबर से पूरे औद्योगिक क्षेत्र में शोक फैल गई है। अस्पताल में अभी ठेका श्रमिक प्रशांत घोष और प्रशांत बनर्जी का इलाज चल रहा है।

मामले को लेकर दुर्गापुर स्टील प्लांट के बीएमएस श्रमिक संगठन के नेता वर्किंग प्रेसिडेंट अमिताव बनर्जी, जीएस मृणमय ने शोक जाहिर किया है।