ममता बनर्जी को आया गुस्सा, शीत वस्त्र नहीं मिलने पर भाषण छोड़कर मंच पर ही गईं बैठ

BDOऔर DM को ममता ने लगाई फटकार

112

हिंगलगंजः पश्चिम बंगाल की मुख्मंत्री ममता बनर्जी दक्षिण 24 परगना के दौरे के दौरान हिंगलगंज में वितरण के लिए शीत वस्त्र नहीं मिलने पर नाराज हो गईं और वह मंच पर ही बैठ गईं।

उन्होंने जिलाधिकारी और बीडीओ को फटकार लगाईं।  बता दें कि सीएम का इलाके में शीत वस्त्र कंबल का वितरण का कार्यक्रम था, लेकिन जब वह मंच पर पहुंचीं, तो वितरण के लिए वस्त्र नहीं मिल सका था।

इससे वह नाराज हो गईं और उन्होंने कहा कि जब-तक वस्त्र नहीं मिलेगा और वह सभा नहीं शुरू करेंगी।

बता दें कि, सीएम ममता बनर्जी की समशेरनगर में सभा थी। वह मंगलवार को सुबह पहुंचीं और बनबीबी मंदिर में पूजा कीं। इस अवसर पर सीएम ममता बनर्जी प्रकृति की पूजा कीं।

इसे भी पढ़ेंः राज्य में बनेंगे दो और जिले, सुंदरवन और बशीरहाट के नाम की घोषणा करेंगी ममता

सरकारी अधिकारियों से नाराज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उत्तर 24 परगना के हिंगलगंज में सरकारी सेवा वितरण समारोह के मंच पर ही बैठी रहीं। मुख्यमंत्री ने हाथ हिलाकर भीड़ की ओर इशारा किया, “बैठ जाओ। मैं भी बैठती हूं।”
उन्होंने कहा कि जबतक शीत वस्त्र नहीं आता है, वह कार्यक्रम की शुरुआत नहीं करेंगी। उन्होंने कहा कि वह यहां वस्त्र वितरण करने आयी थी, लेकिन जब वस्त्र वितरण नहीं होगा, तो फिर वह क्यों सभा कर रही हैं।
उसके बाद उन्होंने जिलाधिकारी को फटकार लगाते हुए कहा कि इस इलाके लिए 15 हजार कंबल दिये गये थे, लेकिन क्यों वितरण के लिए नहीं लाए गये हैं।

BDOऔर DM को ममता ने लगाई फटकार

मुख्यमंत्री मंगलवार को हिंगलगंज में शासकीय सेवा वितरण समारोह में शामिल हुुईं। ममता अच्छे मूड में बोल रही थीं। उन्होंने देवी पूजन के अवसर पर 15 हजार शीतकालीन वस्त्र देने की घोषणा की, लेकिन मंच पर मौजूद सरकारी अधिकारी एक-दूसरे से सर्दी के कपड़े मांगने लगे।

“बीडीओ कार्यालय में है किसी ने कहा। यह सुनकर मुख्यमंत्री नाराज हो गईं। उसके बाद मुख्यमंत्री लगभग 15 मिनट तक बैठी रहीं। बाद में कंबल लाया गया।

उन्होंने कहा कि वह लोगों के लिए लड़ाई करती हैं, लेकिन लोग वंचित होता है, तो उन्हें बहुत ही गुस्सा होता है। वह उपहार लेकर आयी थी, यदि नहीं मिल रहा है, तो उन्हें गुस्सा आता है।

उसके बाद कार्यक्रम स्थल पर लगभग 1000 शीत वस्त्र लाया गया और सीएम ममता बनर्जी ने उन्हें वितरित किया।