बीरभूम में TMC सांसद शताब्दी रॉय के खिलाफ प्रदर्शन

चुनिंदा लोगों को योजनाओं का लाभ मिलने का आरोप

88

बीरभूमः तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सांसद शताब्दी रॉय  को पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में स्थानीय लोगों के एक वर्ग के विरोध का सामना करना पड़ा, जिन्होंने आरोप लगाया कि चुनिंदा लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है।

उन्होंने अपनी शिकायतों के तत्काल निवारण की मांग की। जन संपर्क कार्यक्रम के तहत शनिवार को सैंथिया क्षेत्र पहुंचीं रॉय ने गांववालों से राज्य सरकार द्वारा संचालित नजदीकी दुआरे सरकार शिविर जाकर कल्याणकारी योजनाओं के लिए पंजीकरण कराने का अनुरोध किया और कहा कि उनकी शिकायतें दूर की जाएंगी।

हटोरा गांव पहुंचते ही महिलाओं का एक समूह रॉय के पास पहुंचा और शिकायत की कि ग्रामीण आवास योजना का लाभ केवल मुट्ठी भर लोगों को दिया जा रहा है। इसके खिलाफ महिलाओं ने प्रदर्शन किया।

स्थानीय लोगों ने सांसद शताब्दी रॉय के सामने किया प्रदर्शन

एक महिला ने कहा कि जिन्हें मकान की जरूरत है, उन्हें पैसा नहीं मिल रहा है, हम अमानवीय परिस्थितियों में रह रहे हैं। कुछ लोग जिन्हें पहले ही पैसा मिल चुका है, उन्हें दूसरी बार मिल रहा है।

मामले को कई बार उठाने के बावजूद स्थानीय पंचायत और बीडीओ हमारी बात नहीं सुनते। रॉय ने अपनी ओर से कहा कि पात्र लोगों को निश्चित रूप से इसका लाभ मिलेगा।

इसे भी पढ़ेंः बम ब्लास्ट: शुभेंदु ने शाह को लिखा पत्र, NIA जांच की मांग

उन्होंने कहा कि चिंता न करें, कृपया अपनी शिकायत निकटतम दुआरे सरकार (द्वार पर सरकार) शिविर में दर्ज कराएं। हम इस मुद्दे का समाधान करेंगे।

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने बाद में कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि स्थानीय लोगों की शिकायतों का जल्द से जल्द निवारण किया जाए।

उन्होंने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के तहत राज्य भर के लोगों को कई लाभ मिले हैं। हो सकता है कि कुछ दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों के कारण छूट गए हों, लेकिन उन्हें पता होना चाहिए कि सरकार उनके साथ है। हर योग्य व्यक्ति को उनका बकाया मिलेगा।

भाजपा ने टीएमसी सांसद पर बोला हमला

इस बीच, भाजपा के वरिष्ठ नेता राहुल सिन्हा ने दावा किया कि टीएमसी सांसद उनके निर्वाचन क्षेत्र में बहुत कम दिखाई देती हैं। सिन्हा ने कहा, कि रॉय को अपने निर्वाचन क्षेत्र में ग्रामीणों से मिलने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि उनकी पार्टी समझ गई है कि आगामी पंचायत चुनावों में उनका प्रदर्शन खराब रहेगा।

उन्हें हर जगह बढ़ते जनता के गुस्से का सामना करना पड़ेगा। बीजेपी नेता ने यह भी आरोप लगाया कि केंद्र द्वारा अपनी परियोजनाओं के लिए दी गई सभी धनराशि, जिसमें एक आवास योजना भी शामिल है, स्थानीय टीएमसी नेताओं और उनके वफादारों द्वारा छीन ली गई है।