श्रद्धा ने 2020 में अपने हश्र को लेकर पुलिस से की थी शिकायत, लिखा था-वह मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा

यह पत्र सोशल मीडिया पर है

175

नयी दिल्ली : श्रद्धा हत्याकांड की जांच कर रही दिल्ली पुलिस पुख्ता सबूत इकट्ठा करने में जुटी हुई है। ऐसे में श्रद्धा का दो साल पहले लिखा पत्र भी मुंबई पुलिस के पास मिला(Shraddha had complained) है। यह पत्र सोशल मीडिया पर है।

मुझे मार डालने की बात कहकर करता है ब्लैकमेल :

पत्र के अनुसार, श्रद्धा वालकर को दो साल पहले ही आफताब ने टुकड़ों में काटकर हत्या करने की धमकी दी थी। ऐसी शिकायत महाराष्ट्र के वसई में पुलिस के पास साल 2020 में दर्ज की गई थी।

शिकायत में श्रद्धा ने लिखा था कि आज उसने मुझे जान से मारने की कोशिश की और वह मुझे डराता है, मुझे ब्लैकमेल करता है कि वह मुझे मार डालेगा, मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा।

वह मेरे साथ पिछले छह महीने से मारपीट कर रहा है, लेकिन मुझमें इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं पुलिस में उसकी शिकायत कर सकूं क्योंकि वह मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा था।

श्रद्धा ने शिकायत में लिखा था कि आफताब के माता-पिता उसके हिंसक व्यवहार के बारे में जानते थे और वे उससे मिलने के लिए हफ्ते में एक बार घर आते थे.

पिटाई के बाद भी हम एक साथ रहे, क्योंकि हम आने वाले दिनों में शादी करने वाले थे। लेकिन अब मैं उसके साथ नहीं रहना चाहती लेकिन वो मुझे मारने की धमकी दे रहा है।

वीडियोआफताब के माता-पिता भी बयान दर्ज कराने दिल्ली पहुंचे :

पिछले दिनों श्रद्धा के दोस्तों ने भी पुलिस को बताया था कि 23 नवंबर 2020 को श्रद्धा ने अपने दोस्त करण को पिटाई के बारे में बताया था और चेहरे पर चोट के निशान वाली तस्वीर भी साझा की थी।

इसके बाद ही श्रद्धा अस्पताल में जांच के लिए गई थी।  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि श्रद्धा ने पिटाई के बाद पुलिस को शिकायत में लिखा था कि उसका परिवार उसके हिंसक व्यवहार के बारे में जानता है।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि श्रद्धा ने 2020 में पुलिस में जो शिकायत की थी वो पत्र मैंने देखा है। पत्र में बहुत गंभीर आरोप हैं।

कार्रवाई क्यों नहीं की गई इसकी जांच की जाएगी। मैं किसी पर कुछ भी आरोप नहीं लगाना चाहता लेकिन अगर ऐसे पत्र पर कार्रवाई नहीं होती है तो ऐसी घटनाएं होती हैं। अगर उस समय मामले का संज्ञान लेकर कार्रवाई होती तो शायद उसे बचाया जा सकता था।

पुलिस अब इस शिकायत और वसई पुलिस की ओर से की गई कार्रवाई की पुष्टि कर रही है। आफताब के माता-पिता भी बयान दर्ज कराने के लिए दिल्ली में हैं।  बताया जाता है कि श्रद्धा हत्याकांड में अभी तक पुलिस 17 लोगों का बयान दर्ज कर चुकी है।

दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब का पॉलीग्राफिक टेस्ट कराने के लिए फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) में प्रक्रिया पूरी हो गई है। कोर्ट ने आरोपी आफताब की पुलिस हिरासत अगले चार दिन के लिए बढ़ा दी है।

इसे भी पढ़ेंः श्रद्धा हत्याकांडः CBI जांच की मांग खारिज

नार्को टेस्ट से खुलेंगे राज!

पुलिस के मुताबिक, आफताब पूनावाला पुलिस को गलत जानकारी दे रहा है। पुलिस को संदेह है कि पूनावाला ने अपनी प्रेमिका श्रद्धा वाकर के मोबाइल फोन के साथ क्या किया और जिस आरी से उसने कथित तौर पर उसकी हत्या करने के बाद उसके शरीर को काट दिया, उसके बारे में गलत जानकारी देकर जांचकर्ताओं को गुमराह करने का प्रयास कर रहा है। लिहाजा अब नार्को टेस्ट के जरिए ही श्रद्धा की हत्या के राज को उसके सीने से बाहर निकालने की कोशिश की जाएगी।

कल नार्को टेस्ट करवाया जाएगा

आफताब का नार्को टेस्ट रोहिणी के डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में किया जाएगा, इसके लिए दिल्ली पुलिस ने 50 सवालों की लिस्ट तैयार की है।