मच्छरों के डंक से हिला दक्षिण कोलकाता, 1 मरा

कई लोग आ चुके हैं चपेट में

76

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के राजधानी कोलकाता समेत राज्यभर में डेंगू का प्रकोप जारी है.  वहीं, चक्रवात के  प्रभाव से दक्षिण कोलकाता में हुई बारिश से डेंगू के मामले में बढ़ोतरी दर्ज की गयी है।

दीपावली के बाद एक बार फिर राज्य में डेंगू के मामलों में तेजी के साथ उछाल आया है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के सुझाव पर कोलकाता नगर निगम (केएमसी) के स्वास्थ्य विभाग के अधीन वेक्टर कंट्रोल डिपार्टमेंट की ओर से डेंगू को लेकर एक सर्वे किया गया है।

इसके  अनुसार, डेंगू फैलाने वाले मच्छर उत्तर कोलकाता की तुलना में दक्षिण कोलकाता में अधिक पनप रहे हैं.  डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों के प्रजनन के लिए दक्षिण कोलकाता में उपयुक्त माहौल है.

इस वर्ष जनवरी से अक्तूबर मध्य तक केवल दक्षिण कोलकाता से डेंगू के 80 फीसदी मामले सामने आये हैं. इसी अवधी में उत्तर कोलकाता में मात्र 22 फीसदी लोग डेंगू की चपेट में आये हैं.

इसे भी पढ़ेंः भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 27 सक्रिय मामले बढ़े

निगम के 8 से लेकर 14 बोरो जो कि दक्षिण कोलकाता में पड़ते हैं. उक्त बोरो से डेंगू के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कोलकाता में अब तक 4, 000 से अधिक लोग डेंगू के शिकार हो चुके हैं, जबकि 14 लोगों की मौत हुई है.  राज्य में लगभग 40 हजार लोग डेंगू की चपेट में आये हैं और करीब 33 लोगों की जान गयी है.

सर्वे रिपोर्ट के अनुसार खुले नाले, खाली जमीन, कुएं और तालाबों के कारण डेंगू फैल रहा है. दक्षिण कोलकाता में खाली जमीन, खुले नाले- तालाब और कुओं की संख्या अधिक है।