कोलकाता हाईकोर्ट के कमरा नंबर 11 में भूत है !

DOS ने मांगी एक रात ठहरने की इजाजत, SRAI ने दी चुनौती

259

कोलकाताः कोलकाता हाईकोर्ट के कमरा नंबर 11 में भूत है ! यह खबर फिर मीडिया की शुर्खियों में आयी है लेकिन इस बार भूतों की खोज करने वाली डिटेक्टिव्स ऑफ सुपरनैचुरल (DOS) नामक एक टीम ने हाईकोर्ट के अधिकारियों से अदालत के कई कमरों में एक बात ठहरने की इजाजत मांगी है। ऐसा इसलिए ताकि यह टीम वहां भूत-प्रेत होने की जांच कर सकें।

वहीं, DOS की इस मांग पर भारतीय विज्ञान व युक्तिवादी समिति (Science and Rationalist Association of India (SRAI) ने आपत्ति जताते हुए हाईकोर्ट से ऐसी इजाजत नहीं देने की अपील की है।

DOS के संस्थापक देवराज सान्याल ने दावा किया कि उन्होंने अपनी टीम के साथ ऐसी कई जगहों पर समय बिताया है जहां भूतों का वास बताया जाता था। अब उनका कहना है कि कोलकाता हाईकोर्ट के कमरा नंबर 11 में भूतों का दावा किया जा रहा है। इसलिए वह उस कमरे में एक रात ठहरना चाहते है।

देवराज ने बताया कि करीब दो महीने पहले इस मामले में हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल उदय कुमार के कार्यालय में अपील की थी। इस पर उन्हें बताया गया है कि अदालत के अधिकारियों को इस मामले में फैसला लेने में तीन से चार महीने लगेंगे। वह समय सीमा अभी खत्म नहीं हुई है।

आपको बता दें कि DOS के सोशल मीडिया पेज के मुताबिक यह टीम भूतों, प्रेतबाधित जगहों, काला जादू, परामनोविज्ञान, एलियंस, यूएफओ, फसल चक्र और अज्ञात प्राणियों से संबंधित मामलों की जांच करता है।

दूसरी ओर, भारतीय विज्ञान व युक्तिवादी समिति (Science and Rationalist Association of India (SRAI) के महासचिव मनीष रायचौधरी ने कोलकाता हाईकोर्ट के कमरा नंबर 11 में भूत-प्रेत होने की बात को सरासर अफवाह बताया है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट में भूत है, यह पूरी तरह से अफवाह है लेकिन कुछ लोग जानबुझकर भूतों की अफवाह फैलाया करते हैं।

ऐसी स्थिति में हाईकोर्ट के कमरा नंबर 11 में भूत होने की अफवाह फैलायी गयी है। हाईकोर्ट से अपील है कि DOS ने अदालत परिसार के कमरों में एक रात ठहहने की जो इजाजत मांगी है उसे नहीं दिया जाये।

चौधरी ने कहा कि आज इस ज्ञान-विज्ञान के युग में भूत-प्रेत जैसी बातों को अगर अदालत समर्थन करेगी तो आम लोगों में भ्रम पैदा होगा। इसलिए SRAI की ओर से हाईकोर्ट से अपील की जाती है कि भूत-प्रेत की अफवाह बंद करने के लिए DOS जैसी किसी भी टीम को अदालत में एक भी पल ठहरने की इजाजत नहीं दी जाये।ॉ

उन्होंने कहा कि SRAI की ओर से एक बार फिर DOS को 50 लाख रुपये की चुनौती दी जाती है कि अगर साबित करके दिखाएं भूत होता है। इससे पहले भी SRAI ने DOS को चुनौती दी थी लेकिन इस टीम ने आज तक चुनौती का सामना नहीं किया। अगर वाकइ में भूत है तो साबित करिए और 50 लाख रुपये ले जाइये लेकिन बिना चुनौती का सामना किये भूत जैसी अफवाह मत फैलाएं।

इसे भी पढ़ेः Surya Grahan 2022 : भारत में आज शाम 4.29 बजे से आरंभ होगा सूर्य ग्रहण