उत्तर बंगाल को अलग करने की हो रही साजिशः ममता

सांप्रदायिक हिंसा फैलाने की है योजना

230

कोलकाताः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि उत्तर बंगाल को राज्य से अलग करने के लिए बिहार और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से आग्नेयास्त्रों की तस्करी की जा रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इस उद्देश्य के लिए वीआईपी वाहनों का इस्तेमाल किया जा रहा है और इस तरह के प्रयासों को रोकने के लिए जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया।

ममता बनर्जी ने अधिकारियों से कड़ी निगरानी रखने को भी कहा, उनका कहना है कि कुछ लोगों की योजना दिसंबर से राज्य में सांप्रदायिक हिंसा भड़काने की है।
ममता का आरोप, मतदाताओं को नई सूची से बाहर करने की साजिश
वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को मतदाता सूची को अपग्रेड करने में शामिल अधिकारियों से कहा कि वे 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर चुके लोगों को इसमें शामिल करें और किसी को भी धार्मिक पहचान से बाहर न करें।

नदिया जिले के राणाघाट में एक बैठक में सीएम बनर्जी ने आरोप लगाया कि साजिश रची जा रही है और कुछ सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लगभग 30 प्रतिशत मतदाताओं को नई सूची से बाहर कर दिया गया है।

ममता बनर्जी ने बैठक में कहा कि मैं अधिकारियों से अनुरोध करती हूं कि चुनाव आयोग के नियम के अनुसार सभी का नाम शामिल करें। उन्हें 18 साल के हो चुके लोगों को शामिल करना चाहिए और धार्मिक पहचान के आधार पर किसी को भी बाहर नहीं करना चाहिए।

सीएम ने डीएम और एसपी को मतदाता सूचियां तैयार करने पर नजर रखने का भी निर्देश दिया ताकि यह जांचा जा सके कि कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं है। उन्होंने कहा कि डीएम, एसपी को उन शिविरों का औचक दौरा करना चाहिए जहां मतदाता सूचियां तैयार की जाती हैं।