ममता ने कहा कि बात कोर्ट तक जा रही है, इसलिए शिक्षक नियुक्ति अटकी

मुख्यमंत्री गुरुवार की सुबह विधानसभा पहुंची थी

112

कोलकाताः  राज्य में शिक्षक नियुक्ति मामले को लेकर समस्या काफी लंबे समय से चली आ रही है। आज फिर विधानसभा में शिक्षक नियुक्ति मामले को लेकर सवाल उठा।

इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने एक बार फिर विपक्ष पर निशाना साधा है। मुख्यमंत्री गुरुवार की सुबह विधानसभा पहुंची थी।

सत्र में राशन से जुड़े एक सवाल को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्ष से कहा, बात कोर्ट तक जा रही है इसलिए शिक्षक मामले में भर्ती संभव नहीं है।

अदालत में केस लड़ने के लिए सरकार का पैसा खत्म हो रहा है तो शिक्षकों की नियुक्ति कैसे होगी। राज्य सरकार को कुछ करने का मौका ही नहीं दिया जा रहा है।

इसे भी पढ़ेंः बांग्लादेश से आए लोग भारत के नागरिक, वोटर लिस्ट में जुड़वाएं नाम: CM ममता

दुआरे राशन शुरु करने के लिए हर संभव प्रयास करेगी राज्य सरकार 

विधानसभा में दुआरे राशन को फिर से शुरु करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि दुआरे राशन को फिर से शुरु करने के लिए राज्य सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किया जाएगा।

गौरतलब है कि, दुआरे राशन को लेकर कोर्ट में मामला चल रहा है। उन्होंने कहा कि मैं विधानसभा के माध्यम से कोर्ट से अपील करूंगी कि जो भी मैं करने की योजना बना रही हूं यह सारी चीजें लोगों की सुविधा के लिए की जा रही है। ऐसे में कोर्ट से फैसला जल्द आये ताकि दुआरे राशन की योजना को दोबारा से शुरु किया जा सकें।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कहना है कि राज्य सरकार अपनी योजनाओं पर कार्य कैसे करें। हर मामला कोर्ट में फंसा हुआ है। शिक्षकों की नियुक्ति का मामला अब कोर्ट के अधिकार क्षेत्र में है।

सीबीआई, ईडी जैसी केंद्रीय जांच एजेंसियां ​​अदालत के आदेश पर अवैध भर्ती की जांच कर रही हैं। इन मामलों की सुनवाई में राज्य प्रशासन को अक्सर अदालती फटकार का सामना करना पड़ता है।

राज्य में विपक्षी पार्टियां विरोध के सुर लेने की कोशिश कर रहे हैं। विपक्ष के नेता शुभेंदू अधिकारी अक्सर राज्य में भ्रष्टाचार के विभिन्न आरोपों को लेकर अदालत जाने की बात कहते हैं. ऐसे में कैसे कार्य होगा.