सौतेले बेटे के साथ मिल दूसरी पत्नी ने पति को किए टुकड़े- टुकड़े

मां और बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया है

123

नयी दिल्लीः दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हुई हत्या में पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर दिया। श्रद्धा मर्डर केस जैसी इस वारदात में महिला ने बेटे के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर दी। उसके कई टुकड़े किए, उन्हें फ्रिज में रखा और कई दिन तक आस-पास के इलाकों में उन्हें फेंकती रही।

दिल्ली पुलिस ने सोमवार दोपहर इस मामले पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जिसकी हत्या की गई उसका नाम अंजन दास है, जो त्रिलोकपुरी में रहता था।
हत्या की आरोपी महिला का नाम पूनम है, वह अंजन की दूसरी पत्नी है। बेटे का नाम दीपक है, जो अंजन का सौतेला बेटा है। मां और बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया है।

सोमवार को ही 2 CCTV फुटेज सामने आए हैंं। इसमें बेटा बैग में टुकड़े ले जाता दिखाई दे रहा है और मां भी पीछे दिख रही है। पुलिस ने कुछ फोटोज भी जारी किए हैं, जो मृतक के बॉडी पार्ट्स के हैं। पुलिस ने 6 टुकड़े बरामद किए हैं। इनमें सिर भी है।

  •  पेट्रोलिंग के दौरान शुरू हुई थी सर्चिंग
    5 जून को दिल्ली पुलिस पांडव नगर में पेट्रोलिंग कर रही थी। इस दौरान झाड़ियों से बदबू आने पर पेट्रोलिंग टीम ने थाने में जानकारी दी। आस-पास सर्च करने पर टीम को एक बैग में इंसानी शव के टुकड़े मिले।
  • शव के टुकड़े मिले तो जांच शुरू हुई
    शव के टुकड़े बुरी तरह सड़ चुके थे और इस वजह से इनकी पहचान मुश्किल हो गई थी। जांच अधिकारी ने आसपास के थानों में जाकर पता किया तो कोई गुमशुदा नहीं था। UP और आसपास के राज्यों में भी पुलिस थानों में रिकॉर्ड की पड़ताल की गई।

इसे भी पढ़ेंः मां के कहने पर बेटे ने पिता के आरी से कर दिए 6 टुकड़े

  •  अंजन दास लापता था, पत्नी  ने गुमशुदगी दर्ज नहीं की
    इस दौरान अंजन दास के 5-6 महीने से लापता होने की खबर मिली। पता चला कि वह त्रिलोकपुरी में पूनम और दीपक के साथ रहता था। इन दोनों ने अंजन के गायब होने की रिपोर्ट भी कहीं नहीं की थी।
  •  अंजन पर शक था कि बेटी-बहू पर बुरी नजर रखता है
    पूनम और दीपक से पूछताछ करने पर दोनों ने हत्या की पूरी कहानी और वजह बताई। पूनम को शक था कि बेटे दीपक की पत्नी और उसकी एक तलाकशुदा बेटी पर भी अंजन बुरी नजर रखता है। यह बेटी पूनम के साथ रह रही थी।
     
  • अंजन की पत्नी नहीं थी पूनम
    पूनम ने बताया कि उसकी बिहार में सुखदेव तिवारी से बेहद कम उम्र में शादी हुई थी।वह दिल्ली आ गया और उसकी तलाश में पूनम भी आ गई। पर सुखदेव नहीं मिला, उसके बाद वह कल्लू नाम के व्यक्ति के साथ रहने लगी। कल्लू से उसके 3 बच्चे हुए। लिवर फेल होने के कारण कल्लू की मौत हो गई।
  •  शक होने पर साजिश रची, शराब में नींद की गोलियां मिलाईं
    इसके बाद, पूनम लिफ्ट ऑपरेटर अंजन के साथ रहने लगी। बुरी नीयत का शक होने पर पूनम और दीपक ने मार्च-अप्रैल में हत्या की साजिश रची। 30 मई को दोनों ने अंजन को शराब पिलाई। जिसमें नींद की गोलियां मिली थीं। बेहोश होने के बाद अंजन के गले और शरीर के कई हिस्सों पर चाकू से वारकर हत्या कर दी।
  • घर में रातभर पड़ा रहने दिया था शव
    हत्या के बाद पूरी रात इन दोनों ने शव को वहीं छोड़ दिया। अगले दिन घर से खून साफ किया। फिर लाश के 10 टुकड़े किए। इन्हें फ्रिज में रखा। पूनम और दीपक रोज रात को ये टुकड़े बैग में भरकर पांडव नगर और आसपास के इलाकों में फेंकने जाते थे। 8-10 दिन तक ये सिलसिला चला.
  • अंजन के शव का DNA टेस्ट भी करवाएगी पुलिस               

हत्या के बाद जब टुकड़े फ्रिज में रखे गए थे, तब घर में पेंट करवाया ताकि बदबू को दबाया जा सके। अंजन के सिर को गड्ढा बनाकर गाड़ दिया। पुलिस ने बताया कि अंजन के घरवाले बिहार में रहते हैं। अंजन का DNA टेस्ट करवाने के लिए भी पुलिस टीम वहां भेजी जाएगी।