1 सप्ताह पहले होती श्रद्धा की हत्या, मर्डर वाली रात क्यों हुआ झगड़ा?

घरेलू खर्च को लेकर भी आफताब और श्रद्धा के बीच उस रात झगड़ा हुआ था

192

नई दिल्ली: दिल्ली के मेहरौली में श्रद्धा की हत्या कर उसके शव के 35 टुकड़े करने के आरोपी आफताब और इस हत्याकांड को लेकर हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं।

श्रद्धा हत्याकांड में आखिर मर्डर वाली रात ऐसा क्या हुआ था, जिसकी वजह से विवाद इतना बढ़ गया कि आरोपी आफताब हैवान बन गया और उसने श्रद्धा को मौत के घाट उतार दिया।

इसे लेकर खुद आफताब पूनावाला का कबूलनामा सामने आया है। वैसे तो एक-दूसरे को धोखा देने के शक पर रोज झगड़े होते थे। मगर मर्डर वाली रात झगड़े की असल वजह थी- आखिर घर का खर्च कौन उठाएगा। मुंबई से सामान यहां कैसे शिफ्ट होगा? आफताब ने खुलासा किया है कि मर्डर वाली रात श्रद्धा और उसके बीच घर के खर्च और सामान शिफ्ट करने को लेकर झगड़ा हुआ था।

आफताब अमीन पूनावाला ने पुलिस को बताया कि हत्या से पहले दोनों पार्टनर के बीच मुंबई से घर का सामान शिफ्ट करने को लेकर झगड़ा हुआ था।

इतना ही नहीं, सूत्रों का कहना है कि घरेलू खर्च को लेकर भी आफताब और श्रद्धा के बीच उस रात झगड़ा हुआ था। इससे पहले भी उन दोनों में ज्यादातर एक-दूसरे को धोखा देने के शक में उनके बीच लड़ाई होती थी।

आफताब अमीन पूनावाला पर आरोप है कि उसने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की गला दबाकर हत्या कर दी थी और उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटकर दक्षिण दिल्ली के छतरपुर इलाके में फेंक दिया था।

इसे भी पढ़ेंः लव जिहाद के तहत दिल्ली में हुई श्रद्धा की हत्या : गिरिराज सिंह

पुलिस की जांच में पता चला है कि 18 मई को श्रद्धा और आफताब के बीच झगड़ा हुआ था, जिसके बाद आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी थी। दिल्ली

पुलिस ने बताया कि कपल के बीच 18 मई का झगड़ा पहली बार नहीं हुआ थ। ये दोनों तीन साल से लड़ाई-झगड़ा करते आ रहे थे।

18 मई को मुंबई से घर का सामान लाने को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ था।  घर का खर्च कौन उठाएगा और सामान कौन लाएगा, इस बात को लेकर झगड़े होते थे।

इस बात को लेकर आफताब काफी गुस्से में आ गया. 18 मई की रात करीब 8 बजे दोनों के बीच झगड़ा शुरू हुआ। झगड़ा इतना बढ़ गया कि आफताब ने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। उसने रात भर उसके शरीर को कमरे में रखा और अगले दिन चाकू और रेफ्रिजरेटर खरीदने चला गया।

केमिकल ने धो दिए सारे निशान

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपी ने श्रद्धा की हत्या के बाद पूरे घर को केमिकल से कई बार धो दिया था। यहां तक कि बाथरूम और किचन की भी उसने केमिकल से धुलाई की थी। बताया जा रहा है कि धोया तो सिलेंडर के पास वाले स्थान को भी था, लेकिन यहां ठीक से केमिकल का छिड़काव नहीं होने की वजह से कुछ धब्बे रह गए थे।

बिस्तर पर ही हुआ था कत्ल

पुलिस के मुताबिक अब तक की जांच के दौरान इतना तो साफ हो गया है कि श्रद्धा की हत्या बिस्तर पर ही हुई थी। आरोपी आफताब ने बिस्तर पर ही श्रद्धा का गला घोंटा और मरने के बाद शव को घसीट कर फर्स पर डाल दिया।

वह पूरी रात शव के साथ उसी घर में रहा और अगले दिन बाजार से चाकू और फ्रीज खरीद कर लाया। इसके बाद उसने अगले दो दिनों तक बाथरूम में शव के टुकड़े किए और फिर अगले दो महीने तक एक एक कर इन टुकड़ों को ठिकाने लगाते रहा। इस दौरान शव के टुकड़े उसने विधिवत धो पोंछ कर फ्रीज में रख दिए थे।